Friday, March 16, 2012

मराठी मिंग्लिश कवता दा प्‍हाड़ीग्रेजी अनुवाद।


27 फरवरी विश्‍व मराठी भाषा दिने दे मौके पर इक मराठी मितरें भे‍जईयो मिंग्लिश कवता दा प्‍हाड़ीग्रेजी अनुवाद।
ऐह् ता अखिलराज्य शिक्षक साहित्य संमेलने तांए, श्री बबलू वडार (शिक्षक-कोल्हापुर) होरां लीखी थी. कता पा प्रतियोगिता च तिनां दा पेला नंबर आया.
ऐह् भाषा दा खेल है या असां अपणियां भासां ने खेला दे।




Out dated झालंय आयुष्य                     Out dated होई गयीयो जिंदगी
स्वप्नही download होत नाही                  सुपने भी download नी होआ दे
संवेदनांना 'virus' लागलाय                     संवेदनां जो 'virus'  खा दा
दु:खं send करता येत नाही                    दु:खं send नी करी सकदे

जुने पावसाळे उडून गेलेत                      पराणियां बरसातीं ड़ी गईंयां
delete
झालेल्या file सारखे                     delete होई गईयो file  साही
अन घर आता शांत असतं                     कन्‍ने घर भी हुण शांत रैंहंदा
range नसलेया mobile सारखे                   range ते बाहर mobile साही


hang
झालेय PC सारखी                       hang होयो PC साही
मातीची स्थिती वाईट                         मिट्टिया दी गत बड़ी बुरी है
जाती माती जोडणारी                         अपणियां मिट्टीया ने जोडने वाळी
कुठेच नाही website                          website कुथु भी नी है


एकविसाव्या शतकातली                       इवीं सदीया दी
पीढी भलतीच 'cute'                          पीढी कुछ लग ही 'cute' है
contact list
वाढत गेली                        contact list बधदी गई
संवाद झाले mute                            गलबात होई गईयो mute 

computer च्या chip सारखा                    computer दे  chip साही
माणूस मनानं खुजा झालाय                    माण्‍हु दिले ते छोटा होई गिया 
अन 'mother' नावाचा board,                  'mother' नांय दा board,
त्याच्या आयुष्यातून वजा झालाय               तिसदिया जिंदगीया ते जाई चुकया

floppy Disk Drive मध्ये                       floppy Disk Drive
आता संस्कारांनाच जागा नाही                  हुण संस्कारां जो जगनी है
अन फाटली मनं सांधणारा                     कन्‍ने फटयां दिलां जोड़ने वाळा
internet
वर धागा नाही                        धागा internet र नी है

विज्ञानाच्या गुलामगिरीत                      विज्ञाने दी गुलामिया च
केवढी मोठी चूक                            कितणी बडी भुल है
रक्ताच्या नात्यांनाही                          खूने दे रिश्‍तयां जो भी
आता लागते facebook................               हुण चाही दी facebook...............


पहाड़ी अनुवाद : कुशल कुमार

6 comments:

  1. बहुत बदिया...
    आपणी मिटिया कने जोडने वाली वेबसाइट हूँ आई गयी, ते बड़ी जल्दी हूँ मिटिया री खुशबू इधी च मिलिनी|
    http://www.himalayanartfoundation.org

    ReplyDelete
  2. बड़ी बधिया कविता... मज़ा आई गया पढ़ी ने.

    ReplyDelete
  3. भाई जी मजा कैंह नीं औणा था.
    कम्प्यूटर दी टर्मीनोलोजी.
    अज्जे दी गल अज्जे दिया भाषा च.
    सच्ची मजा आई गया.

    ReplyDelete
  4. मिन्गलिश/पहाड़ीग्रेजीया दीयां टियोकियां पर टोक

    मराठी तां अप्पूं ही थी काठी
    टप्परू नी लग्गेया था ढैणा
    जे भई ग्रेजीया दी ट्योकी
    जग्गा-जग्गा पई गई देणा.
    पर मरदा क्या नी करदा
    कम्प्यूटरे जो काळजा ही नी
    क्नै दिले दीयां क्म्पयूटर नी पढ़दा
    मराठीया दीयां जड़ां च तेल
    सै: भी ग्रेजी, मुस्का आळा,
    पढ़देयां ही पौयै ठ्ण्डी तरेळ
    मु:हैं दन्दखड़, हाखीं झाळा.

    तेज कुमार सेठी

    ReplyDelete
  5. कुशल होरां एह खरी पोस्‍ट लगाई है, आःखीं खोल्णे आळी.है मजेदार. पर असर डुग्घा है. कंप्‍यूटरे पर अजकला जादातर लोक एंगलोनागरी की बोर्डे पर टाइप करा दे. टेलिफोने पर एसएमएस रोमन लिपिया च ही जांदा. असां प्‍हाड़ी भी देवनागरिया च लिखदे.इञा लिखिए तां मतलब देवनागरिया जो रोमन लिपिया दी सि‍णक लगी पई समझा. अजकल अखबारां भी खरा घचोळ पाःया हिंग्लिसा दा. कई दूं लिपियां च खबरां छापी जा दे.

    इञा भारतेंदु हरिश्‍चंदर होरां भी कई कवता लिखियां पर फर्क ए है भई लफ्ज अंग्रेजिया दा है पर मतलब हिंदिया दा है.

    पर एह्थी मराठी मास्‍टर होरां किछ होर ई रस्‍ता दस्‍सेया है.
    जरा सोचा भला पजांह क सालां परंत क्‍या डौल हुंगा.

    ReplyDelete
  6. एह् ग्रेजी मुस्‍का आळा तेल है बहुत बदिया... मिंजो भी मज़ा आया था। ताहीं दा एह पोस्‍ट लगाई। अजय सकलानी जी, राजीव भरोल जी, द्विज जी तुहां सारयां जो बड़ा-बड़ा धन्‍यवाद। तुहां जो ऐह प्‍हाड़ीग्रेजी अनुवाद पसंद आया। तेज कुमार सेठी होरां बड़ी मारके बाली गल किती है मराठी ही नी असां अपणियां सारीयां भासां दियां जड़ां च ग्रेजी मुस्‍का आळा तेल अप्‍पु ही पाई जादे। ऊपरे ते क्म्पयूटरे दी तोफ। लगा दा इसा फेरिंगा ते कुछ नी बचणा है। कोशिशां ता लगियां पर मुश्‍कल है भाई ग्रेजीया दे चंपुआं अगें असां दा पप्‍पू ता फेल है। अनूप जी होरनां भासां ते लफ्ज जोड़ी ने ही भासां बधदियां। ग्रेजीया दा केंटीन उतर भारतीय भासां च कंटीन बणी जादा ता हिंदिया दा खाट भी कॉट होई जांदा। नोंईंया चीजां नोंआं नां लई ने ओंदियां। रेल रेल ही होंदी पर हर भासा च लग ही लगदी। लफ्ज ता परोहण्‍यां साही ओंदे ही रैंहदे कन्‍ने परोहणे घरौणे बणी जादें पता ही नी चलदा। पर इनां परोहण्‍यां दी नीत ठीक नी है ऐह् बसणा नी घरे जुआड़ाना आयो। भासां दा कबाड़ा ता था ही देवनागरिया जो भी रोमन लिपिया दी सि‍णक लगी पईयो। चिंतां दी गल्‍ल ता है पर इस तेले दी मुस्‍का ने दमाग कम नी करा दा।

    ReplyDelete